कासगंज-बीजेपी विधायक के खिलाफ विद्युत विभाग का धरना।

कासगंज जनपद के नदरई विद्युत सव स्टेशन पर तैनात जेई डिप्टी सिंह मीणा और बीजेपी विधायक देवेन्द्र राजपूत के बीच हुए विवाद का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। जेई के साथ हुई मारपीट के विरोध में बिजली विभाग के अधिकारी कर्मचारी धरने पर चले गए।इस दौरान बिजली कर्मचारियों ने शासन प्रशासन से आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर बिजली सव स्टेशनों को सीसीटीवी कैमरो से लैस कराये जाने की मांग उठाई।

राज्य विद्युत परिषद उत्तर प्रदेशन एसोसिएशन के बैनर तले कार्यालय अधीक्षण अभियंता कार्यालय कासगंज पर धरने पर बैठे ये कर्मचारी बिजली विभाग के हंै और बीजेपी विधायक देवेन्द्र सिंह राजपूत से खासे नाराज होकर सदर विधायक मुर्दाबाद के नारे लगाये।उनका कहना है कि बीती 18 सितम्बर को विधायक ने जेई डिप्टी सिंह मीणा के साथ एस्टीमेट कम कराने को लेकर गाली गलौज कर सत्ता के नशे में मारपीट कर दी और सरकारी अभिलेखों को फोड दिया।
fastupnews
इस मामले में जेई की तहरीर पर पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ अभियोग दर्ज कर लिया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की, बल्कि पुलिस ने उलटा विधायक के दबाव में चैन लूटने का फर्जी मुकदमा दर्ज कर लिया, जबकि विधायक द्वारा की गई मारपीट का वीडियों सोसल मीडिया पर वायरल हो गया था, लेकिन पुलिस ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की। जिससे मजबूर होकर बिजली कर्मचारियों को धरना प्रदर्शन करने के लिए बाध्य होना पड़ा।

सवाल ये भी है कि जब विधायक की चैन चैन जेई ने लूटी थी,  तब विधायक के सुरक्षा गार्ड कहां थे, जिससे साफ जाहिर हो रहा कि पुलिस ने सत्ता दल के विधायक के दबाव में आकर पुलिस ने बिजली विभाग के जेई के खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज कर लिया है।फिलहाल इस मामले में पुलिस के आलाधिकारी चुप्पी साधे हुए है।
Input By:Vivek Roy

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*