भगवान भोले की तरह भोलापन है बनारस की पहचान – नरेन्द्र मोदी

भगवान भोले की तरह भोलापन है बनारस की पहचान – नरेन्द्र मोदी

वाराणसी : देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जनपद वाराणसी के दौरे पर आये जहां उन्होंने कह कि 21वी सदी के हिसाब से गत् 4 वर्षो से विकास करने का निरन्तर प्रयास हो रहा है। उन्होने वाराणसी में कराये जा रहे विकास कार्यो का जिक्र करते हुए कहा कि विकास कार्य के दौरान काशी में नवीनता भी होगा और आधुनिकता भी होगी। उन्होने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि बदलते हुए बनारस की तस्वीर अब चौराहो, चौपालो एवं गलियों में दिखने लगी है।

कहा बाबा भोले जैसे भोले है काशीवासी

काशीवासियों की प्रशंसा करते हुए उन्होने कहा कि भोले बाबा जैसा भोलापन है बनारस की पहचान। प्रधानमंत्री ने वाराणसी में कराये गये 449.29 करोड़ लागत की 20 विकास परियोजनाओं का लोकापर्ण एवं 487.66 करोड़ की लागत 12 परियोजनाओं का शिलान्यास करने के साथ ही कुल 936.95 करोड़ लागत की कुल 32 परियोजनाओं का सौगात वाराणसी के लोगो को दिया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को अपने दो दिवसीय दौरे के पहले दिन राजातालाब के कचनार में आयोजित विशाल जन सैलाब को सम्बोधित कर रहे थे। जहां उन्होने गत् 4 वर्षो में वाराणसी में कराये गये विकास कार्यो की चर्चा के दौरान लोगो को बदलते बनारस की तस्वीर से रूबरू कराते हुए कहा कि अब सड़को पर लटकते विद्युत तार गायब हो चुके है। सड़को पर बहते सीवर लगभग समाप्त हो चुके है और शहर के रंग-बिरंगी रोशनिया मन को भाती है।
उन्होने उत्तर प्रदेश की पिछली सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पिछली सरकार से काशी के विकास कार्यो में कोई सहयोग नही था। लेकिन योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में सरकार बनने के बाद काशी में विकास कार्य तेज हो गया है। पेयजल, सीवर स्वच्छता पर बहुत कार्य हुए है और हो भी रहे है। उन्होने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि वाराणसी शहर में जो भी विकास कार्य हो रहे है, उसका लाभ आसपास के गॉव वासियों को भी मिल रही है। उन्होने 4.35 करोड़ की लागत से राजातालाब में नवनिर्मित एवं लोकार्पित हुए पेरिशेबल कार्गो केन्द्र को किसानों के लिये बरदान बताते हुए कहॉ कि अब किसानों के फल एवं सब्जी सड़ने-गलने नही पायेगी और किसान अपने फल एवं सब्जियों को इस कार्गो में सुरक्षित रख सकेगें तथा देश के अन्य प्रदेशों एवं शहरों में ले जाकर उसे बेच भी सकेगें। स्वास्थ्य सुविधाओं की चर्चा करते हुए उन्होने कहा कि वाराणसी पूरे पूर्वाचल का मेडिकल हब बन गया है।

बीएचयू एम्स के साथ मिलकर एक बहुत बड़ा वर्ल्ड क्लास एम्स इस्टीच्यूट बनाने का समझौता किया है। जिस पर कार्य शुरू हो चुका है। उन्होने कहा कि बाबा भोलेनाथ का दर्शन करने काशी आने वाले श्रंधालुओं को आने-जाने के लिये बेहत्तर सुविधायें मुहैया कराये जाने के लिये युद्वस्तर पर कार्य चल रहा है। पंचक्रोसी मार्ग के सड़क का चौड़ीकरण सहित पड़ाव का विकास कार्य 97.04 करोड़ की लागत कराया जायेगा। प्रधानमंत्री ने जापान के सहयोग से 186.00 करोड़ की लागत से नगर निगम परिसर में बनने वाले कन्वेंशन सेंटर ‘‘रूद्राक्ष’’ के लिये जापान के प्रधानमंत्री को बधाई देते हुए उन्होने कहा कि यहा पर पर्यटन को भी बढावा दिये जाने हेतु स्वच्छता एवं घाटों के सुन्दरीकरण हेतु बड़े पैमाने पर कार्य किये रहे है।
गत चार वर्ष पहले के काशी की याद दिलाकर बहते सीवर, जगह-जगह कूड़े की ढेर एवं वाराणसी-बाबतपुर के क्षतिग्रस्त सड़क का जिक्र करते हुए उन्होने कहा कि इन क्षतिग्रस्त सड़को के कारण लोगो के फ्लाईटे छूट जाया करती थी। उन्होने लोगो से पूछा कि 4 वर्ष पूर्व गंगा के घाटो का हाल कैसा था और अब कैसा है। प्रधानमंत्री ने केन्द्र की पूववर्ती सरकारों पर हमला बोलते हुए कहा कि गंगा के नाम पर हजारों करोड़ रूपये लोगो की तिजोरियां मात्र भरने का कार्य किया। उन्होने कहा कि गंगा के प्रवाह एवं उनकी शुद्वता पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। गंगोत्री से गंगासागर तक एक साथ गंगा सफाई का अभियान चलाया जा रहा है। इसके लिये 21 हजार रूपये की 200 परियोजनायें स्वीकृत की गयी है।
उन्होने कहा कि बड़े पैमाने पर एसटीपी बनवाये जा रहे है और इसके बाद अब गंगा में कोई सीवर अब नही बहने पायेगा। उन्होने स्मार्ट सिटी की चर्चा करते हुए कहा कि बनारस वासियों को अब शीघ्र ही परिणाम भी दिखने लगेगे। स्मार्ट सिटी सिर्फ शहरों का विकास नही, बल्कि देश को नई पहचान देने का मिशन है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के सफल उद्योग नीति के लिये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा एवं इसके लिये उन्हे बधाई देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के उद्योग नीति का परिणाम अब दिखने लगा है। नोयडा में गत् दिवस देश के सबसे बड़े मोबाइल कम्पनी का किये गये उद्घाटन की चर्चा करते हुए उन्होने कहा कि कभी देश में मोबाइल की मात्र 10 कम्पनियॉ रही। किन्तु अब तक 200 कम्पनियॉ है और उसमें से अकेले 50 कम्पनियॉ उत्तर प्रदेश में है। इससे 4 लाख नौजवानों को रोजगार मिलेगा।

उन्होने मुद्रा योजना, निःशुल्क एलपीजी गैस कनेक्शन आदि की चर्चा करते हुए कहा कि गरीब माताओं एवं बहनों के जीवन में भी अब बदलाव आ रहा है। उन्होने कहा कि बनारस में एक-एक सिस्टम बदलने का अभियान चल रहा है और बताया कि बनारस के सड़को पर शीघ्र ही बस एवं अन्य गाड़ियां सीएनजी से दौड़ेगी। इससे भी बहुतो को रोजगार मिलेगा। इस दौरान प्रधानमंत्री ने आगामी 21 से 23 जनवरी, 2019 में वाराणसी में होने वाले अप्रवासी दिवस के दौरान काशी आने वाले विदेशी मेहमानों का दिल खोलकर काशी की परम्परा के मुताबिक मेहमान नवाजी किये जाने हेतु काशी वासियों से जोरदार अपील की।

(किस योजना की हुई घोषणा)

इस मौके पर उन्होने 4.35 करोड़ की लागत से निर्मित पेरिशबल कार्गो केन्द्र राजातालाब, 27.89 करोड़ की लागत से निर्मित हदय योजना अन्तर्गत 24 सड़को का सुधार एवं निर्माण कार्य, 50.00 करोड़ की लागत से निर्मित वाराणसी शहर गैस वितरण प्रणाली, 26.50 करोड़ की लागत से निर्मित हदय योजना अन्तर्गत पोल एवं लाईट प्रोजेक्ट, 2.97 करोड़ की लागत से निर्मित बसनी ग्राम पेयजल पाईप परियोजना, 1.72 करोड़ की लागत से निर्मित बरजी ग्राम पेयजल पाईप परियोजना, 0.91 करोड़ की लागत से निर्मित बंतरी ग्राम पेयजल पाईप परियोजना, 2.61 करोड़ की लागत से निर्मित आयर ग्राम पेयजल पाईप परियोजना, 1.40 करोड़ की लागत से निर्मित जयापुर ग्राम पेयजल पाईप परियोजना, 5.52 करोड़ की लागत से निर्मित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र गजोखर, 2.00 करोड़ की लागत से निर्मित अमृत योजनान्तर्गत नगर के 07 पार्को का सौन्दर्यीकरण कार्य, 6.98 करोड़ की लागत से निर्मित स्वच्छ भारत मिशन अन्तर्गत नगरीय स्वच्छता को सुदृढ़ करने हेतु वाहनों एवं उपकरणों की व्यवस्था, 1.73 करोड़ की लागत से निर्मित वाराणसी नगर निगम मुख्यालय पर सोलर प्लाण्ट का अधिष्ठापन, 1.54 करोड़ की लागत से निर्मित हदय योजना अन्तर्गत दुर्गाकुण्ड, कुरूक्षेत्र से अस्सी तक हेरिटेज कार्य, 7.92 करोड़ की लागत से हदय योजना अन्तर्गत नगर निगम द्वारा निर्मित 10 सड़के, 2.51 करोड़ की लागत से निर्मित हदय योजना अन्तर्गत पिपलानी कटरा, कबीरचौरा में हेरिटेज वाक, 2.56 करोड़ की लागत से निर्मित हदय योजना अनतर्गत टाउनहाल का रि-डवलपमेंट, वाराणसी शहर के परिधिगत 13 ग्राम पंचायतों का कूड़ा संग्रह एवं उठान कार्य के बाबत 2.16 करोड़ की लागत से कार्यान्वयन हेतु प्रक्रियात्मक व्यय, 3.32 करोड़ कार्यान्वयन हेतु पूूॅजीगत व्यय, 45.00 करोड़ की लागत से टाटा कन्सल्टेंसी सर्विस के महमूरगंज स्थित बी0पी0ओ0 का लोकापर्ण के साथ ही 250.00 करोड़ की लागत से वाराणसी-बलिया एम0ई0एम0यू0 ट्रेन का लोकापर्ण एवं 97.04 करोड़ की लागत से पंचक्रोसी परिक्रमा मार्ग (चित्तईपुर-भीमचण्डी-जंसा- रामेश्वर-हरहुआ-शिवपुर-कपिलधारा) सड़क निर्माण कार्य, 29.86 करोड़ की लागत से भिखारीपुर तिराहे से अमरा चौराहें तक सम्पर्क मार्ग चौड़ीकरण एवं सुंदरीकरण, 10.30 करोड़ की लागत से नमामि गंगे योजनान्तर्गत 26 घाटो का जीर्णोद्वार, 19.91 करोड़ की लागत से स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत वाराणसी नगर के 08 चौराहो का उच्चीकरण एवं विकास कार्य, 10.58 करोड़ की लागत से स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत कान्हा उपवन का निर्माण, 5.92 करोड़ की लागत से स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत वाराणसी शहर के 04 पार्को का सुन्दरीकरण, 20.90 करोड़ की लागत से अवस्थापना एवं 14 वॉ वित्त आयोग के अन्तर्गत शहरी अवस्थापना (सड़क, गली, जल निकासी, पार्क, स्कूल व वरूणापुल पर जाली) संबंधी 69 कार्य, 83.66 करोड़ की लागत से स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत ए0वी0डी0 क्षेत्र में प्रमुख सड़को एवं 08 जक्शन का सुधार कार्य, 13.48 करोड़ की लागत से स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत वाराणसी के 08 चौराहों का उच्चीकरण एवं विकास कार्य (फेज-2), 9.34 करोड़ की लागत से जायका अन्तर्गत जी0आई0 एस0 एवं एम0आई0एस0 का विकास कार्य, 0.67 करोड़ की लागत से स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत वाराणसी नगर के 05 ओवर हेड टैंक के सुन्दरीकरण का कार्य तथा 186.00 करोड़ की लागत से अर्न्तराष्ट्रीय सहयोग एवं कन्वेंशन सेंटर ‘‘रूद्राक्ष’’ नगर निगम मुख्यालय/कार्यालय परिसर का निर्माण कार्य का शिलान्यास बटन दबाकर किया। इससे पूर्व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कचनार, राजातालाब कार्यक्रम स्थल से ही 250.00 करोड़ की लागत से वाराणसी-बलिया एम0ई0एम0यू0 ट्रेन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।
इसके पहले प्रधानमंत्री का स्वागत करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री ने काशी को दुनिया के सामने जिस गौरवशाली रूप में प्रस्तुत किया है। निश्चित रूप से उससे देशवासियों का मान बढ़ा है। विगत् 4 वर्षो में देश का सर्वागिण विकास की जो ऊचाईयॉ नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश को मिला है। उन्होने कहा कि वर्ष 2014 से पूर्व काशी की उपेक्षा होता रहा। लेकिन आज काशी की पहचान दुनिया में हो रही है। विभिन्न देशों के राष्ट्राध्यक्ष वाराणसी आना चाहते है। मुख्यमंत्री ने कहा कि काशी में विश्वस्तरीय व्यवस्था सुलभ कराये जाने का कार्य युद्वस्तर पर कराया जा रहा ।
भाजपा के उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने भी प्रधानमंत्री का स्वागत करते भारतीय राजनीति में 2012-13 के दौर को महत्वपूर्ण बताया और कहॉ कि वर्ष 2014 में पहली बार जनता ने चुनावी एजेन्डा स्वयं सेट किया, और 32 वर्षो बाद जनता ने अपने एजेन्डे पर नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में विशाल बहुमत से सरकार बनाई। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के राज्यपाल रामनाईक, केन्द्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिनहा सहित जापान के राजदूत प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।
रिपोर्ट : विवेक सिंह

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*