बरेली-विधायक कुशाग्र सागर के खिलाफ भाजपा की प्रदेश प्रवक्ता दीप्ति भारद्वाज ने खोला मोर्चा

बदायू के बिसौली से भाजपा विधायक कुशाग्र सागर के खिलाफ भाजपा की प्रदेश प्रवक्ता दीप्ति भारद्वाज ने मोर्चा खोल दिया है। उनका कहना है ऐसे विधायक को जेल की सलाखों के पीछे होना चाहिए। वही विधायक खुद तो मीडिया के सामने नही आये लेकिन उनके पिता पूर्व विधायक योगेंद्र सागर ने अपने बेटे का पक्ष मीडिया के सामने रख

बीजेपी की प्रदेश प्रवक्ता दीप्ति भारद्वाज ने अपनी ही पार्टी के विधायक कुशाग्र सागर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। दीप्ती का कहना है कि योगी और मोदी सरकार में महिलाओं के साथ अत्याचार करने वालो को जेल की सलाखों के पीछे भेजा जाएगा। दीप्ती ने विधायक सेंगर का उदाहरण देते हुए कहा कि जैसे कार्यवाही सेंगर पर हुई है वैसी ही कार्यवाही कुशाग्र सागर पर होगी।

विधायक पर लगे आरोपो पर उनके पिता पूर्व विधायक योगेंद्र सागर ने सफाई दी है। उनका कहना है कि उनके बेटे को बदनाम करने की ये साजिस है। उन्होंने बताया कि इसी लड़की ने 2014 में भी मेरे बेटे कुशाग्र पर शादी का झांसा देकर रेप के आरोप लगाए थे और अब 4 साल बाद एक बार फिर से उसी लड़की ने एसएसपी से शिकायत की है। जबकि मेरे बेटे का इस लड़की से कोई लेना देना नही है। उन्होंने बताया कि जिन लोगो ने उनके खिलाफ साजिस रची थी वही लोग उनके बेटे को फसाने की साजिस कर रहे है। उन्होंने कहा कि जांच में सब कुछ सामने आ जायेगा। मेरा बेटा निर्दोष है उसकी 17 जून को शादी है और शादी रुकवाने के लिए इस तरह का षड्यंत्र किया गया है।

इस मामले में पुलिस शुरू से ही लीपापोती करने में लगी हुई है। आज भी बरेली रेंज के आईजी डीके ठाकुर का कहना है कि माननीय विधायक कुशाग्र सागर के खिलाफ आरोपो पर एफआईआर दर्ज नही हो सकती पहले मामले की जांच करवाएंगे अगर मामले में सत्यता पाई जाती है तो विधायक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी और उसके बाद ही पीड़िता का मेडिकल करवाया जाएगा। आईजी के इस बयान से अंदाजा लगाया जा सकता है कि पुलिस का रवैया विधायक जी के लिए कितना नर्म है। आईजी का कहना है कि पीड़ित युवती को डरने की जरूरत नही है उसकी सुरक्षा करवाई जाएगी।

वही पीड़ित युवती कल से अपने घर नही गई है। उसको डर है की विधायक कही उस पर हमला न करवा दें।

Input By:-Vivek Singh

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*