सीतापुर- दलित लड़के की दिन दहाड़े गोली मार कर हत्या, इलाके में सनसनी

सीतापुर दलित लड़के की दिन दहाड़े गोली मार कर हत्या, इलाके में सनसनी, तूल पकड़ सकता है मामला.  

यूपी के सीतापुर में एक दलित लड़के को दिन दहाड़े गोली मारकर हत्या कर देने का मामला सामने आया है. वही उसके साथी को इतनी बेदर्दी से मारा गया है कि उसे ट्रामा सेंटर भेजा गया है. जहा उसकी हालात गंभीर बनी हुई है. हत्या के पीछे पैसे का लेनदेन की बात सामने आई है. आरोप इलाके के प्रधान के बेटे पर है. आरोप ये भी है कि प्रधान का बेटा होली में जमकर शराब के नशे में था. और वो उसको नाजायज़ असलहे की नोक कर जबरन नाचवान चाहता था. इनकार करने पर सीने से सटा कर गोली मार दी. जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी. जानकारी लगते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्मार्टम के लिए भेज दिया है. परिवार वालों की शिकायत पर केस दर्ज कर फरार प्रधान के बेटे की तलाश शुरू कर दी है. मामला थाना तंबौर के चांदी बेलवा का मामला है.

परिवार वालों का आरोप है कि पुलिस आरोपियो से मिली हुई है. पीड़ित परिवार को ही दबाने की कोशिश कर रही है. यही वजह रही कि पीड़ित परिवार वालों ने सड़क पर पुलिस की कार्यवाही पर सवाल खड़े करते हुए जाम लगा कर पुलिस मुरादाबाद के नारे लगाए. बाद में स्थानीय नेता और पुलिस के आश्वासन के बाद पीड़ित दलित परिवार शांत हुआ.

सीतापुर के तंबौर के ग्राम चाँदी बेलवा के निवासी अनूप कुमार उर्फ़ बैठू उम्र 25 पुत्र बहादुर शाम 6 बजे गांव के ही विजय पुत्र अज्ञात के घर पर मजदूरी के बकाया पैसे मागने के लिए गया. वहां पर आपस में किसी बात को लेकर विवाद होने लगा. विवाद बढ़ने पर दोनों पक्षो की और से कई लोग मौके पर आ गए. दोनों पक्षों की और धारधार हत्यारो का मारपीट होने लगी. इसी दौरान प्रधानपति उत्तम वर्मा भाई रामसिंह वर्मा पुत्रगण दरबारी व साले विजय वर्मा गुड्डू वर्मा पुत्रगण रघुनाथ वर्मा ने मिलकर अनूप को बांय अंग के हिस्से में देशी तमंचे से सटा कर गोली मार दी. गोली लगने से अनूप कुमार मौके पर गिर गया. गोली लगने से मौके पर अफरा तफरी का माहौल पैदा हो गया. सुचना मिलते ही डायल 100 की गाड़ी मौके पर पहुँच गई. डायल 100 की गोली लगी युवक को लाने के लिए तैयार नही हो सकी. परिजनो के नाराज होने के बाद उसको गाड़ी में लादकर तम्बौर सीएचसी पर लेकर आ रही थी. रास्ते में अनूप कुमार ने दम तोड दिया. पुलिस ने तम्बौर सीएचसी पर लाकर शव को छोड़ दिया. मौके पर मौजूद मृतक के परिजनों ने रोड पर शव को रख कर सड़क को जाम कर पुलिस व आरोपी को गिरफ्तार ना करने पर हंगामा करना शुरु कर दिया. घटना स्थल पर पुलिस ने परिजनों को मानाने शुरू कर दिया. लेकिन परिजन अपनी मांग पर अड़े रहे. इसके बाद इस्पेक्टर अनिल कुमार पाण्डेय के आश्वाशन के बाद परिजन तैयार हो गयें मृतक के भाई की तहरीर पर पुलिस ने हत्या मारपीट एससीएसटी के अंर्तगत मुकदमा दर्ज कर शव को पीएम के लिए भेज दिया. मारपीट में प्रधान पक्ष की और से घायल हुए दोनों लोगो को डॉक्टरो ने लखनऊ ट्रॉमा सेन्टर रिफर कर दिया. हत्या की घटना को लेकर गांव में एक दरोगा चार सिपाही तैनात कर दिया गया है. घटनास्थल पर सीओ बिसवां, सकरन, रेउसा लहरपुर सहित कई थानो की पुलिस मौजूद है. 

Input by rahul arora

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*