मुजफ्फरनगर-अवैध सिरे का गोदाम सीज

मुजफ्फरनगर जनपद के शाहपुर थाना क्षेत्र के नवीन मण्डी में आबकारी विभाग की अवैध सिरे के गोदाम पर बड़ी कार्यवाई, खास मुखबिर की सूचना पर फर्जी वर्धमान ट्रेडिंग कंपनी के गोदाम व बंद कैटल फीड फैक्ट्री पर हुई छापेमारी, मौके से तीन ट्रक के साथ 20 हजार अवैध कुंटल सिरा हुआ बरामद, पुलिस ने बताया शांति देवी डिग्री कॉलेज के चेयरमैन सुभाष जैन के पुत्र सचिन जैन की है ये फैक्ट्री,

जांच के बाद आबकारी विभाग ने सिरे के सैंपल लेकर ट्रक और फैक्ट्री को किया सीज, आबकारी पुलिस को देखकर सभी आरोपी हुए मौके से फरार, वही पहले आबकारी विभाग द्वारा सीज की गई फैक्ट्री में दोबारा सिरे का काम जारी था और 2009 में आबकारी विभाग ने इसी फैक्ट्री में अवैध सिरा मिलने पर फैक्ट्री को किया था सीज, फैक्ट्री मालिक सचिन जैन के खिलाफ शाहपुर और बुलंदशहर में भी अवैध सिरे के मामले में मुकदमा दर्ज है।

दरअसल मामला शाहपुर थाना क्षेत्र के मुजफ्फरनगर रोड स्थित नवीन मंडी का है जहां रविवार की सुबह को आबकारी इस्पेक्टर आलोक कुमार सिंह ने खास मुखबिर की सूचना पर बंद पड़े वर्धमान ट्रेडिंग कंपनी के गोदाम व बंद कैटल फीड फैक्ट्री पर अपनी टीम के साथ छापेमारी की, छापेमारी के दौरान आबकारी पुलिस को देख मौके से सभी आरोपी फरार हो गए लेकिन आबकारी टीम को मौके से अवैध सिरे से भरे 3 टैंकर के साथ मौके से 20 हजार कुंटल अवैध सिरा बरामद हुआ, वही पुलिस ने तीनों टैंकरों को सीज करने के साथ ही पूरी फैक्ट्री को सीज कर दिया और अवैध सिरे का सैंपल लेकर जांच के लिए लैब को भेजकर पूरे मामले की जांच शुरू कर दी,

सालों से बंद पड़ी फैक्ट्री शांति देवी डिग्री कॉलेज के चेयरमैन सुभाष जैन के पुत्र सचिन जैन की है, इसी फैक्ट्री को 2009 में आबकारी विभाग के द्वारा छापेमारी के दौरान अवैध सिरा मिलने पर फैक्ट्री को सीज कर दिया था, इसके बावजूद शाहपुर और बुलंदशहर थाने में अवैध सिरे के मामले में सचिन जैन पुत्र सुभाष जैन के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज है, लेकिन सचिन जैन ने पैसों की मोटी चमक को देखकर ज्यादा ही लालच करते हुए सीज फैक्ट्री को दोबारा गैर कानूनी तौर पर रात के अंधेरे में फिर से अवैध सिरे का काम शुरू कर दिया, पूरे मामले में आबकारी इस्पेक्टर आलोक कुमार सिंह का कहना है इनके द्वारा अभी तक कोई भी कागज दिखाया नहीं गया पूरा सिरा अवैध है और यह सिरे को दूर-दूर भेजते हैं जिससे तंबाकू शराब आदि बहुत सी चीजें बनती है, इनके खिलाफ कानूनी कार्यवाई की जाएगी और सैंपल लेकर लैब को भेजा जा रहा है और थाने में FIR दर्ज कराई जा रही है।

Input By:Komal Sharma

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*