मैनपुरी -डीएम आवास पर महिला का शव रखकर प्रदर्शन

संदिग्ध परिस्तिथि में महिला की मौत के बाद और पुलिस द्वारा समझौते का दवाब बनाने के बाद गुस्साए म्रतक के परिजनों ने महिला के शव को जिलाधिकारी आवास पर रख कार्यवाही की मांग की. शव को जिलाधिकारी आवास लेकर पहुचने की सूचना मिलते ही जिला प्रशाषन के हाँथ-पांव फूल गए,भारी पुलिस बल के साथ जिला प्रशाशन के बड़े अधिकारी मौके पर पहुँच गये| परिजनों का आरोप था कि मृत महिला पूनम रोज की तरह लहसुन ब्यपारी के यहां काम पर गई थी,

जिसके बाद परिजनों को पूनम के जिला अस्पताल में मृत अवस्था मे होने की सूचना मिली, मौके पर पहुँचे परिजनों ने लहसुन ब्यापारी पर हत्या का आरोप लगाते हुए छेत्रीय थानाध्यक्ष घिरोर से रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की,

पुलिस द्वारा दोनो पक्षों में समझौते का दवाब बनाने पर गुस्साए परिजन मृतका के शव को लेकर जिलाधिकारी आवास पहुँच गए और कार्यवाही की मांग करने लगे, जिसके बाद मौके पर पहुँचे जिलाधिकारी ने पूरे मामले का संज्ञान लिया है और परिजनों को कार्यवाही का अस्वासन दिया है।

पूरा मामला मैनपुरी के थाना घिरोर क्षेत्र के ग्राम गोदना का है. गोदना निवासी सतीश चंद्र की 35 बर्षीय पत्नी पूनम क्षेत्र में ही लगे लहसुन प्लांट पर काम करने जाती थी. सुबह 8 बजे प्लांट मालिक संजय ने फ़ोन कर काम ज्यादा होने की बात कहकर जल्दी आने को कहा, जिसपर पूनम आधा घण्टा पहले घर से निकल गई, जिसके बाद परिजनों को पूनम की मौत की सूचना मिली, शव के जिला अस्पताल होने की सूचना पर मौके पर पहुँचे परिजनों ने हत्या का आरोप लगाते हुए क्षेत्रीय थाना पुलिस से रिपोर्ट दर्ज करने की बात कही,

वही परिजनों के अनुसार थानाध्यक्ष घिरोर ने मामले पर समझौते का दवाव पीड़ित पक्ष पर बनाया,परिजनों के ज्यादा बिरोध पर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में काफी दिनों से तबियत खराब और ज्यादा ब्लीडिंग के बाद हार्टअटैक की बात सामने निकल कर आई,परिजनों के अनुसार महिला पूर्ण रूप से स्वस्थ थी वही लहसुन मालिक के बड़े आदमी होने और पैसा भरने की बात कहते हुए दोबारा पोस्टमार्टम की बात करते हुए बिरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया, और शव को लेकर जिलाधिकारी कार्यालय पहुँच गए।

पूरे मामले पर उपजिलाधिकारी मैनपुरी अमित कुमार ने बताया कि मृत महिला की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सर से ज्यादा खून बहने के बाद हार्टअटैक की बात निकालकर आयी है, अब ये मौके पर जांच की बात है कि सर में चोट किस तरह से लगी, मामले की गंभीरता से जांच कराई जाएगी,जो निकलकर आएगा उसके आधार पर आगे की कार्यवाही कि जाएगी।
 input by- sanjay sharma

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*