हाथरस – नए जिलाधिकारी रमाशंकर मौर्य ने की समीक्षा बैठक , दिए कड़े निर्देश

हाथरस । जनपद में करकरेत्तर, राजस्व कार्यों के निर्धारित लक्ष्यों को समय से पूरा करने के लिये जिलाधिकारी नेे विभागीय अधिकारियों को सख्त निर्देश दिये। डीएम ने आईजीआरएस पोर्टल पर दर्ज प्रार्थनापत्रों के समयबद्ध तथा गुणवत्तापरक निस्तारण से करने के निर्देश दिये।
    कलेक्टेªेट में जिलाधिकारी डा0 रमाशंकर मौर्या ने मासिक स्टाफ कार्यो कि समीक्षा बैठक में एण्टी भू माफिया, करकरेत्तर, श्रावस्ती माॅडल पर कब्जा मुक्त करायी गई भूमि तथा  राजस्व कार्यों, की विभागवार कार्यप्रगति की समीक्षा करते हुए अधिकारियों से कहा कि वे शासन की मंशा के अनुसार विभागीय लोककल्याण की योजनाओं से जरूरतमंद लोगों को लाभांवित करें। इसके अलावा सभी एसडीएम अपने अपने कोर्ट के 05 वर्ष से अधिक लम्बित वादों को सुनवायी कर शीघ्र निस्तारण करना सुनिश्चित करें। किसी भी विभाग द्वारा हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट में लम्बित मुकदमो में प्रतिशपथ पत्र यथाशीघ्र दाखिल करना सुनिश्चित करें। किसी भी विभाग के द्वारा कोर्ट की अवमानना न होने पायेें। सभी विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी जनसमस्याओं के प्रति संवेदनशील होकर और उनके समयबद्ध निस्तारण के लिये प्रतिबद्धता दिखायें। उन्होंने आगाह किया कि जनसमस्याओं की अनदेखी करने के दोषी अफसरों और कर्मचारियों के विरूद्ध कडी कार्यवाही की जायेगी।
  डीएम ने मुख्य देय, विविध देयों की बसूली, करकरेत्तर तथा राजस्व कार्यों की विभागवार समीक्षा करते हुए मानक के अनुसार राजस्व बसूली करने के संबंध में अधिकारियों को कडे निर्देश दिये। उन्होंने मुख्यमंत्री संदर्भ, आईजीआरएस तथा राजस्व वाद आदि के लंबित मामलों को समयबद्ध निबटाने हेतु अधिकारियों को सख्त हिदायत दी।
उन्होने सभी एसडीएम तथा तहसीलदारो से तहसीलों के टाप 10 बकायेदारों पर हुई कार्यवाही के बारें में पूछा। उन्होने उपस्थित अधिकारी से अपने अपने विभाग की आरसी को तहसील से शीघ्र मिलान करने को कहा। उन्होने कहा कि सभी विभाग तहसील से आरसी का मिलान कर ले। जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि जनपद में फसल ऋण मोचन योजना अभी तक कुल 06 चरणों मे सम्पन्न की गयी है। जिसके तहत कुल 40482 किसानों के 287 करोड रूपये ऋण माॅफ किए गयें है। शेष किसानों के ऋण माफी की प्रक्रिया के लिये 23 मार्च तक डिमाण्ड जनरेट की जानी है। विद्युत विभाग से जनपद में विद्युत की पूर्ति तथा खराब ट्रान्सफार्मर के स्थानान्तरण की निर्धारित समय सीमा के बारे मे पूछा। जिस पर अधीक्षण अभियन्ता विद्युत ने बताया कि जनपद में विद्युत पूर्ति तथा ट्रान्सफार्मर स्थानान्तरण निर्धारित प्रक्रिया तथा निर्धारित समय में किया जा रहा हैं। चकबन्दी अधिकारी ने अपने विभाग के बारें में बताया कि जनपद में कुल 26 गांव में चकबन्दी प्रक्रिया हो रही है।
   अपर जिलाधिकारी रेखा एस0 चैहान ने वार्षिक लक्ष्य के सापेक्ष माह फरवरी 2018 तक की अवधि में वाणिज्य कर में 101 प्रतिशत, स्टाम्प देय में 60 प्रतिशत, आबकारी में 72 प्रतिशत, बैंक देय में 101 प्रतिशत, विद्युत देय में 62 प्रतिशत, परिवहन में 105 प्रतिशत, नगर विकास में 150 प्रतिशत, तथा कृषि विपणन में 82 प्रतिशत राजस्व बसूली के बारे में विभागवार जानकारी दी।
बैठक में एसडीएम हाथरस अरूण कुमार सिंह, एडीएम सादाबाद जयप्रकाश, एसडीएम शासनी अंजुम बी, एसडीएम सिकन्दराराऊ ज्योत्सना बन्धु, जिला पुर्ति अधिकारी सुरेन्द्र यादव, जिला आबकारी अधिकारी, वाणिज्य कर अधिकारी, ईडीएम मनोज उपाघ्याय, समस्त तहसीलदार, समस्त अधिशासी अधिकारी नगरपालिका, नगर पंचायत तथा अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*