मुज़फ्फरनगर-रालोद मुखिया हिन्दू मुस्लिम एकत्रा के लिए पहुंचे मुज़फ्फरनगर

मुज़फ्फरनगर -रालोद मुखिया चौधरी अजित सिंह मंगलवार को दो दिवसीय दौरे पर जनपद मुज़फ्फरनगर पहुंचे जंहा रालोद कार्यकर्ताओ ने सरकुलर रोड़ स्थितपार्टी कार्यालय पर उनका जोरदार स्वागत किया उसके बाद उन्होंने पार्टी के नव निर्मित भवन का उद्घाटन किया इस अवसर पर मुज़फ्फरनगर में हुए दंगो केबाद चौधरी अजित सिंह का स्वागत करने वाले लोगो में मुस्लिमो की भी अच्छी खासी संख्या रही जिनसे मिलकर रालोद मुखिया बेहद खुश नजर औरकार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने भाजपा पर निशान साधते हुए भाजपा को भारतीय जुमला पार्टी का नाम देते हुए कहा कि 4 साल पहले यंहा जो हुआ जिसने देश को बर्बाद कर दिया लोग मिल जुल कर रहते थे किसान बर्बाद हो गया रोजगार खत्म हो गया है सिवाय झूठ बोलने के इस पार्टी के हाथ मे कुछ औरनही है मुज़फ्फरनगर से ही ये पार्टी बनी थी और मैं आया हूं


,मुज़फ्फरनगर में दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे रालोद मुखिया चौधरी अजित सिंह जनपद में दो दिन रहकर पार्टी कार्यकर्ताओं की नब्ज टटोलेंगे उसके साथकिसानों से बात करेंगे पार्टी कार्यलय पर नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया उसके बाद उन्होंने कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुए कहा कि जो मुज़फ्फरनगरके नाम पर जो धब्बा लगा है हमे उसे खत्म करना है यंहा गांव में कभी झगड़े नही हुए ये भाजपा की चाल थी अब जो हुआ उसे भूल जाओ और अपने बच्चों के भविष्य का ध्यान करो अगर यंहा शांति नही होगी तो देश मे कंही भी शांति नही होने वाली उन्होंने किसानों को रोज एक मुसलमान से हाथ मिलाने का भी आग्रह किया और एक दूसरे की खुशी और गम में भी शामिल होना शुरु करें उन्होंने कहा कि लोकदल मजबूत रहेगा तो किसी की हिम्मत नही की कोई दंगा करा दे और हम जब तक भारतीय जुमला पार्टी को नेस्तनाबूत नही कर देंगे तब तक मैं मुज़फ्फरनगर आता रहूंगा
मुज़फ्फरनगर में 2013 में हुए दंगो के दौरान चौधरी अजित सिंह यूपीए सरकार का हिस्सा थे और केंद्र सरकार में मंत्री थे उस दौरान वे मुज़फ्फरनगर में नही आ सके थे जिसे लेकर यंहा के लोगो की नाराजगी का नतीजा ये रहा था कि उनका वोट बैंक भी उनके हाथ से खिसक गया था और उसके फलस्वरूप रालोदका 2013 के लोकसभा चुनाव और 2017 के विधान सभा चुनाव मेंसूपड़ा साफ हो गयाथा अब लोकसभा चुनाव 2019कीतैयारीशुरूहोगयीहैजिसकेचलतेअब एक बार फिर मुस्लिम मतदाता रालोद की तरफ बढ़ रहे है दूसरा दंगो के दौरान दर्ज मुकदमो को आपसी सहमति से समझौते के आधार पर वापस लेने कोलेकर भी रालोद सक्रिय दिखाई दे रहा है अजित सिंह के मुज़फ्फरनगर आने के बाद उनके स्वागत में मुस्लिम नेताओं की संख्या ने साफ कर दिया कि अबमुस्लिम और जाट गठजोड़ एक बार फिर बनता दिख रहा है अगर ऐसा हुआ तो पश्चिम में रालोद एक बाद फिर अस्तित्व में आ जायेगा जनपद के पूर्व विधायकशाहनवाज राणा , पूर्व सांसद अमीर आलम खान , व पूर्व विधायक नवाजिश आलम , किसान नेता गुलाम मोहम्मद जोला और कई मुस्लिम प्रधान व पूर्वप्रधान सहित सैंकड़ो असरदार नेताओ का चौधरी अजित सिंह के स्वागत में देखे गये

input by-KOMAL SHARMA

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*