मुरादाबाद :सुसरालियों को झूठे मुकदमें में फसाने वाले धोखेबाज दमाद को जाना पड़ा जेल

सुसरालियों को झूठे मुकदमें में फसाने वाले दमाद को खुद ही जेल जाना पड गया। अमरोहा के युवक के पिता ने उसकी पत्नी और सुसरालियों के खिलाफ अपहरण   कर हत्या करने की झूठा मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर अहपरण करने का ड्रामा रचने का पर्दाफाश कर युवक व उसके पिता व चाचा के खिलाफ घोखाघडी का मुकदमा दर्ज कर युवक को जेल भेज दिया। उल्लेखनीय यह है कि अमरोहा देहात क्षेत्र के नेत्रपाल सिंह के बेटे सोनू का विवाह सात महीने पहले कुंदरकी थाना क्षेत्र के मिलक बहापुर निवासी कृपाल सिंह की बेटी ममता के साथ हुआ था। शादी में कृपाल सिंह ने बुलेरो व किमती समान दिया था लेकिन शादी के बाद से ही युवती का पति एंव सुसरालियां दहेज में दिए गए समान से खुश नही थे जिस कारण पति पत्नी में मारपीट होती रहती थी।

29 जनवरी को सोनू अपनी पत्नी ममता के साथ बुलेरो से अपनी सुसराल आया था लेकिन वह देर शाम तक अपने घर वापस नही लौटा तो युवक के परिजनो ने कुंदरकी थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई तथा चार फरवरी तक युवक का सुराग नही लगने पर युवक के पिता ने युवक की पत्नी ममता, सुसर कृपाल सिंह, साले राजू व सुनील के खिलाफ युवक का अपहरण कर हत्या करने की आशंका व्यक्त करते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर युवक की बुलेरो उसकी सुसराल से बरामद कर अपने कब्जे में ले ली थी तथा मुकदमें की विवेचना उपनिरीक्षक ऋिषी कपूर ने शुरू की तब विवेचना में तथ्य सामने आऐं कि 29 जनवरी को युवक ने अपनी सुसराल आकर अपनी पत्नी से अपने पिता से प्लाट खरीदने के लिए दस लाख रूपयें की मांग की थी तथा कुछ दिन पहले युवक के सुसरालियों और दमाद में कहासुनी हो गई थी ।युवक की पत्नी ने मारपीट करने के कारण उसके साथ जाने से मना कर दिया था तब युवक पैदल ही अलीगढ हाईवें पर पहुंचा और वंहा से अपने घर पहुंच गया था। पुलिस युवक के तीन मकान होने के कारण दबिश के दौरान गिरफ्तार नही कर सकी । मंगलवार को युवक अपने पिता के साथ कुंदरकी थाने पहुंचा तो पुलिस ने युवक से पुछताछ की तो युवक सुसरालियों पर अपहरण करने कर  कभी रामपुर तो कभी काशीराम नगर में रखने का आरोप लगाता रहा लेकिन कडी पुलिस पुछताछ में युवक टुट गया और जो कुछ उसने बताय वह बेहद चौकाने वाला मामला सामने आया ।युवक ने पुलिस को बताया कि सुसराल वालों से प्लाट लेने के लिए दस लाख रूपयें की मांग की थी लेकिन उन्होने नही दिए और कुछ दिन पहले उसकी पत्नी व सुसरालियों से कहासुनी हो गई थी तब सुसरालियों ने उसकी बेइज्जती की थी ।29 जनवरी को वह अपने घर पहुंचा और अपने चाचा यादराम सिंह व पिता नेत्रपाल सिंह को दस लाख रूपयें की मांग पूरी नही होने की बात बताई तब उसके चाचा और पिता के साथ मिलकर अपहरण कर हत्या करने के झूठे आरोप में सुसरालियों को फंसा कर दस लाख रूपयें लेकर फैसला करने की योजना बनाई थी। पुलिस ने सुसरालियों को झूठे मुकदमें में फंसाने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज करकर घोखाघडी करने के आरोप में सोनू और उसके पिता नेत्रपाल,चाचा यादराम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर सोनू को जेल भेज दिया है।

Input By:Shariq Siddiqui

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*