मुरादाबाद-बेरोजगार हुए पीटल मजदूर ,होली नही मनापाएँगे मजदूर ,किया प्रदर्शन।

Desk fast up news

मुरादाबाद जनपद पूरे विश्व में पीतल नगरी के नाम से मशहूर है और हर साल करीब 2500 करोड़ का कारोबार यहाँ से होता है लेकिन पिछले एक महीने से यहाँ के पीतल मजदूर परेशान हैं,,दरअसल एन जी टी के आदेश के बाद प्रशासन द्वारा इन पीतल मजदूरों का कारोबार बंद हो गया है,,,इस कारोबार से जुड़े पीतल मजदूर और उनके परिवार भूख मारी के कगार पर आ गए हैं और आगामी होली का त्यौहार न मनाने की चेतवानी दे रहे हैं ,उनका कहना है कि प्रशासन द्वारा ई कचरे के नाम पर उनका उत्पीडन किया जा रहा है जबकि ई कचरे का काम वो नहीं करते हैं इतना ही नहीं लोगों ने इलाके में पोस्टर भी लगा दिए हैं की यहाँ ई कचरे का काम नहीं होता है फिर भी उनके पुश्तैनी कम् को बंद कर दिया गया है,आज लोग घरों से बाहर निकले और प्रदर्शन किया !

ये है मुरादाबाद के थाना नागफनी के नवाबपुरा इलाके का यहाँ की ज्यादातर आबादी पीतल कारोबार से जुडी है और मजदूरी कर अपने और अपने परिब्वार का पेट पाल रहे हैं,,लेकिन पिछले एक महीने से इनके कारोबार को एन जी टी का हवाला देते हुए प्रशासन द्वारा बंद कर दिया गया है जिससे इनके परिवार पर आर्थिक संकट आ गया है,,यहाँ के लोगों का कहना है कि उनकी कई पीढियां इस काम को करती आ रही हैं .

और ई कचरे के नाम पर उनका उत्पीडन किया जा रहा है,,लोगों ने यहाँ तक कहा कि हमारे यहाँ ई कचरे का कोई काम नही होता है,,अगर ई कचरा कहीं भी मिले तो वो सजा के लिए तैयार हैं ,या उन्हें कही और जगह मुहय्या करादी जाय और कोई लाइसेंस दिया जाय जिसके तहत वो काम कर सकें ओलोगों ने इलाके में पोस्टर भी लगा दिए हैं,,,बच्चे बूढ़े,महिलायें आज अपने घरों से निकले और प्रदर्शन किया और अपनी बात रखी इन परिवारों के आगे आगामी होली का त्यौहार कैसे मनाएंगे ये भी समस्या उत्पन्न हो गयी है बेरोजगारी होने के कारण कई पढ़े लिखे युवक भी पीतल कारोबार में मजदूरी करके अपने परिवार को पाल रहे हैं.

Input by SHARIQ SIDDIQUI

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*