मथुरा : पाकिस्तान में राम मंदिर बनेगा : गिर्राज सिंह

केंद्रीय मंत्री गिर्राज सिंह एक निजी कार्यक्रम में भाग लेने मथुरा पहुँचे। यहाँ पहुँचने के बाद पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जोशीला स्वागत किया ।यहाँ पहुँचे केंद्रीय मंत्री गिर्राज सिंह में मीडिया से रूबरू होते हुए योगी आदित्य नाथ

 

से पूछे गए एक सवाल पर बोलते हुए कहा यह पूछने वाले से पूछना चाहता हूं मुझे बता दे कि आज मैंने एकादशी व्रत रखा हूं तो यह जरूरी नहीं है कि मैं आज रोजा रखूं । राम मंदिर मुद्दे को बोलते हुए उन्होंने कहा हम कोर्ट का सम्मान करते हैं उनके निर्णय का स्वागत करते हैं । एक मुस्लिम संगठन ने मंदिर बनने के रास्ते को साफ किया है सुन्नी भाइयों से भी मेरा अनुरोध है कि आप भी मिलजुल कर जैसे सभी हिंदू समाज मस्जिद का निर्माण करा रहे हैं। आप भी आए , आप के पूर्वज थे भारत के अंदर कोई मुसलमान बाबर का वंशज नहीं है कोई मुसलमान विदेशी नहीं है भारत का मुसलमान राम का वंशज है हमारे पूर्वज एक हैं भले ही पूजा पद्धति अलग हो सकता है आज अगर मैं मुस्लिम धर्म अपमान अपना लूं तो क्या सौ साल बाद मेरे पूर्वज और मेरे भाई के पूर्वज अलग होंगे आज मुसलमानों की स्थिति भी वही है। मैं मुसलमानों से अपील करता हूं कि हिंदू और मुसलमान दोनों मिलकर राममंदिर बनाएं ओबेसी पर तंज कस्ते हुए कहा वह तो मक्का मदीना जाएंगे तो क्या पाकिस्तान में राम मंदिर बनेगा।

नहीं भारत में ही बनेगा और ओवैसी जैसे लोग जो देश को बांटना चाहते हैं ओवैसी ओवैसी जैसे लोग जिनके दिल में उनके मन में जिनके अंदर जिन्ना का जिन्न प्रवेश कर गया है। देश को तोड़ना चाहते हैं इन सबके बावजूद जब गिरिराज सिंह से यह पूछा गया कि राम मंदिर का निर्माण कब शुरू होगा तो वह सवाल को टाल गए और समय आने की बात कहने लगे । वही हरियाणा सरकार द्वारा सभी स्कूलों में गायत्री मंत्र लागू किए जाने के सवाल पर कहा सनातन धर्म में विज्ञान ज्ञान और मंत्र दोनों का समायोजन जब तक ना हो तो भारत की संस्कृति और भारत की संस्कृति के बगैर शिक्षा अधूरी है अभी जो शिक्षा शिक्षक की हो शिक्षा में केवल पैकेज की बात होती है कि मेरा बेटा प्रत्यय कितने लाख का पैकेज लेगा अच्छी बात करनी चाहिए शिक्षा में अगर मान्यता ना रहा शिक्षा में अगर संस्कार और संस्कृति को शिक्षा बेकार है। शिक्षा में केवल शिक्षा नहीं बल्कि संस्कार और संस्कृति का समायोजन होना चाहिए एक और बात कहना चाहता हूं शिक्षा अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय छात्रसंघ से कहता हूं कि मैं राष्ट्रपति का विरोध करूंगा यह संगीत मैं चाहता हूं कैसे छात्रसंघ हो ऐसे विद्यार्थी ऐसे कोई व्यक्ति राष्ट्रपति देश का राष्ट्रपति महामहिम राष्ट्रपति के ऊपर आरोप लगाना और देशद्रोह के बराबर है। ऐसे विद्यार्थियों को ऐसे संगठन को बैन कर देना चाहिए जो राष्ट्रपति के ऊपर ऐसे टिपड़ी करता है।

Input by:Manish Singh

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*