कोक से दुनिया तक आने ना देंगे लाडो को : खाप पंचायत

शामली में खाप चौधरी ने तुगलकी फरमान सुनाया है..जिसमे बालियान खाप के चौधरी नरेश टिकैत ने कहा कि न तो बेटिया पैदा करेंगे और न ही बेटियो का जन्म होने देंगे..माननीय सुप्रीम कोर्ट हमारी पुरानी परम्पराओ में हस्तक्षेप न करे..लड़की और लड़कों के बीच का जो अनुपात है उसमें जो अंतर होगा उसकी जिम्मेदार माननीय उच्चतम न्यायालय होगी..माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने खाप के खिलाफ एक सख्त लाइन अपनायी थी , जिसमे कहा गया था कि दो सहमतिजनक वयस्कों के बीच अंतर जाती और अन्तर भेद एक विवाह करने के बीच में खाप को हस्तक्षेप करने का अधिकार नहीं है..जिसको लेकर खाप के चौधरियों में खास नाराजगी है और खाप चौधरी इसका विरोध कर रहे है।

  • आज जनपद क्षेत्र के गाँव भज्जू में एक विशेष कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे बालियान खाप के चौधरी नरेश टिकैत ने माननीय उच्चतम न्यायालय के इस आदेश पर नाराजगी जताई है और उन्होंने कहा है कि अगर माननीय उच्चतम न्यायालय हमारी पुरानी परम्पराओं में हस्तक्षेप करता है तो उसे हम बर्दाश्त नहीं करेंगे और अगर इस तरह  के आदेश पारित हो जाते है तो हैम न तो लडकिया पैदा करेंगें और न ही लड़कियों को पैदा होने देंगे या तो उन्हें हम उतना अध्ययन नही करने देंगे कि वो अपने फैसले खुद लेना शुरू कर दे।

यह भी देखे:मथुरा : पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी का मथुरा के पकौड़ों से प्रेम

ऐसे में सवाल यह है कि एक तरफ देश मे लड़को की अपेक्षा लड़कियों का अनुपात पहले से ही कम है और अगर ऐसे में खाप के एलान के बाद अगर लोग लडकिया पैदा न करने का निर्णय ले लेते है तो उन तमाम योजनाओ  और कार्यक्रमो का क्या होगा  जिसको देश की सरकारे प्रमुखता से चला रहे

क्या इस सब के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान पर फर्क पड़ेगा

इनपुट श्रवण शर्मा

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*