हाथरस-मुख्यमंत्री योगी के साथ धोखाधड़ी

मुख्यमंत्री योगी के साथ अफसरों की धोखाधड़ी
PUBLISH BY KAILASH PONIYA
सिर्फ फर्जी कागजी आंकड़े भेज रही अफसरशाहीे
हाथरस। सूबे के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी भले ही तंत्र की व्यवस्था को सुधारने की लाख कोषिषें कर रहे हों लेकिन योगी की सुव्यवस्था धरातल पर सही मायनों में नहीं उतर पा रही है। तंत्र में शामिल अफसरषाही सीएम योगी के मंसूबों में पलीता लगाने का काम कर रही है। अफसरषाही मुख्यमंत्री के साथ धोखाधड़ी कर सिर्फ फर्जी कागजी आंकडे पेष कर उनको गुमराह कर रही है। इसकी एक और बानगी प्रकाष में आई है। हाथरस जिले के विकासखण्ड मुरसान क्षेत्र के ग्राम उदयभान भकरोई, जटोई और मथुरा जनपद के गांव जंगली के मौजा से निकलने वाले नाले पर गांव कटेला (नगला धारू) के रहने वाले नौबत सिंह और उसके भाई ने नाले को जोतकर कब्जा कर रखा है। इस नाले में वैसे करीब १८ साल से पानी नहीं आ रहा है। जिसकी वजह से नाले का अस्तित्व मिटता जा रहा है। प्रषासन और विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के चलते यह नाला संकट में है। जब इस नाले में पानी आता था तो हजारों किसान इस पानी से अपनी फसल सींचता था। आज किसानों के लिए पानी के लाले पड़ रहे है । इस नाले पर हो रहे अतिक्रमण की षिकायत की गई थी। जिलाधिकारी ने इसकी जांच उप जिलाधिकारी हाथरस को सोंप दी। उप जिलाधिकारी ने सम्बंधित क्षेत्रीय लेखपाल रिचा वाश्र्णेय को मौके पर जाकर जांच के आदेष दिये। लेखपाल रिचा वाश्र्णेय ने लेखपाल अवधेष षर्मा को साथ लेकर नाले  की पैमाइष कर निषानदेही तो कर दी लेकिन अतिक्रमण नहीं हटा और मुख्यमंत्री के जनसुनवाई समन्ववित षिकायत प्रणाली पोर्टल पर ४  फरवरी को झूठी आख्या भेज दी कि नाले की पैमाइष कर निषानदेही करते हुए नाले से अतिक्रमण हटवा दिया गया है। इसकी पुश्टि अन्य अधिकारियों ने भी कर दी। सरकार को यह दिखा दिया गया कि नाले से अवैध कब्जा हटवा दिया गया है जबकि आज भी मौके पर ज्यों का त्यों अतिक्रमण है। 
इस मामले में जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह से भी जानकारी की गई लेकिन उन्होंने यह\कहा   कि इसे दिखवाते हैं। लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। ये है अधिकारियों की हकीकत। सिर्फ फर्जी कागजी कार्यवाही कर प्रशासन सरकार की आंखों में धूल झोंक रहा है। अगर इसी तरह यह फर्जी आंकड़ों का खेल इसी तरह चलता रहा तो इस सरकार भी वही हाल होगा जो पिछली सरकारों का हुआ है। 

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*