भगवान को परखने के लिए प्रेम मंदिर की दूसरी मंजिल से युवक ने लगाई छलांग ,घायल

भगवान श्रीकृष्ण की नगरी वृंदावन में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है । जहाँ भगवान की शक्ति को परखने के लिए एक युवक ने मंदिर की दूसरी मंजिल से छलांग लगा दी । युवक अस्पताल में भर्ती है जिसकी हालत गंभीर बनी हुई है ।
ये है मामला

जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश के बदायूं का रहने वाला 20 वर्षीय विकास मथुरा घूमने के लिए 2 दिन पहले वृन्दावन आया था । मंदिर घूमने के दौरान विकास वृंदावन के प्रेम मंदिर दर्शन करने पहुंचा। जहां उसने भगवान श्रीकृष्ण की शक्ति को परखने के लिए 2 मंजिल से छलांग लगा दी । जिससे उसे गंभीर चोटें आई हैं । घटना की जानकारी मंदिर प्रशासन और दर्शन करने आये लोगों को हुई तो उसके आसपास लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा । 2 मंजिल से कूदने की सूचना पर इलाका पुलिस मौके पर पहुंच गई और घायल युवक को अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है ।

यह भी देखे:मथुरा : पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी का मथुरा के पकौड़ों से प्रेम

मायावती अस्पताल के चिकित्सक डॉ विपिन चाहर ने बताया कि कन्डीशन तो आप देख रहे है। इसको फ्रेक्चर है इसको कूदने के बाद पता नहीं कौन इसको यहाँ एडमिट करने के लिए लाया हमने इसको यहां एडमिट किया ।इसे देखने के लिए इसके परिजन आये थे

यह भी देखे:बीडी सिगरेट पिने वालो के कटे चालान

कुुुछ समय के बाद वो भी चले गए और इसके पास अभी कोई इसका परिवार का सदस्य नही है ।

छलांग लागई कृष्ण के लिए
प्रेम मंदिर की दूसरी मंजिल से छलांग लगाने बाले विकास का कहना है । भगवान से मुझे लगाब बहुत ज्यादा था अपने कन्हैया से उसकी भक्ति तो में घर पर भी करता था । उसे याद करता था मेरा मन किया कि भगवान मौत के मुंह मे से बचा लेता है ।और उसने यही सोचकर छलांग लगा दी । मेरी कोई गर्ल फ्रेंड नही है और नाही किसी लड़की के लिए मैं कूदा छलांग लगाई है तो कृष्ण के लिए ।

भगवान बचाते है या नही
वैसे तो मथुरा वृंदावन घूमने के लिए हजारों श्रद्धालु रोजाना आते है । और यहाँ भगवान की भक्ति करते है । ऐसे ही 2 दिन पहले बदायूं से मथुरा वृंदावन घूमने के लिए आया था विकाश। अब इसे भक्ति कहेंगे या युवक की सनक जो कि भगवान की शक्ति परखने के लिए दूसरी मंजिल से छलांग लगा दी कि उसे भगवान कृष्ण बचाते है या नहीं  ।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*