बलिया-लावारिश लाशों का ये कैसा मोक्ष

यूपी में लावारिश लाशों के साथ हो रही बर्बरता का दृश्य बलिया में देखने को मिला ! पोस्टमार्टम हाउस से अंतिम संस्कार के लिए निकली लाशों को गंगा नदी  के तट तक घसीटते हुए लाया गया और  निर्मल गंगा  जैसी योजनाओं को ठेंगा  दिखाते हुए उन्हें पानी में फेक दिया गया ! वही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी लावारिश लाशो के साथ हो रही क्रूरता पर पुलिस को जिम्मेदार ठहरा रहे है !

 ज़िंदगी का  सबसे बड़ा सत्य है मृत्यु और सच हमेशा  कड़वा होता है ! लावारिश लाशों के साथ मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना बलिया में भी देखने को मिली ! दरसल बलिया जिला चिकित्सालय के ऊपरी मंजिल पर एक महिला की लाश मिलती है जिसका पोस्टमार्टम किया जाता है ! ऐसे में मृत महिला के दूर के रिश्ते दार जब लाश की पहचान करने आते है तो लाश का अंतिम संस्कार करने वाला परिजनों से 1000  हज़ार रुपए की मांग करता है !

लिया जनपद के पोस्टमार्टम हाउस में लावारिश लाशों के अंतिम संस्कार की जिम्मेदारी दरसल पुलिस विभाग की है जिसके लिए अंतिम संस्कार करने वाले व्यक्ति को 1000 रूपये देने होते है ! पर जो नज़ारा हमारे कैमरे में कैद हुआ उसने इंसानियत के जज्बे को झकझोर कर रख दिया ! बलिया के पोस्टमार्टम हाउस से एक सप्ताह पूर्व दो लाशें अंतिम संस्कार के लिए निकलती है ! रिक्से पर लाशों को रख दिया जाता है और लाशों के सीने पर एक व्यक्ति यमराज की तरह बैठ जाता है ! हद तो तब हो जाती है जब गंगा नदी के किनारे पहुंचते ही लाशो को रिक्से से उतार कर उसे घसीटते हुए गंगा नदी तक लाया जाता है ! और लाशों को गंगा में फेक दिया जाता है !

सरकारी व्यवस्था की मरचुकी संवेदना का ये नज़ारा जिसने भी देखा उसके होश उड़ गए ! ऐसे में सरकारी उपेक्षा का दंश लावारिश लाशों किस कदर उठाना पद रहा है इसका खुलासा बलिया पोस्टमार्टम हाउस में तैनात सुभास नाम का ये शख्श कर रहा है जिस पर लावारिश लाशों के अंतिम संस्कार की ज़िम्मेदारी है !

वही लावारिश लाशों के साथ हो रही क्रूरता पर बलिया जनपद के मुख्य चिकित्साधिकारी का कहना है की लावारिश लाशों के अंतिम संस्कार की जिम्मेदारी पुलिस की है ! लिहाज़ा स्वास्थ्य विभाग का लावारिश लाशों से कोई लेना देना नहीं ! 

Input by:Arvind kasyap

 

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*