अमेठी | 25 हजार का बाहुबली इनामी गिरफ्तार

अमेठी के इस बाहुबली को पुलिस ने किया गिरफ्तार था 25″हजार का इनाम

बात करे हम अमेठी कि जहा बीते दिनो 30 जनवरी को दोपहर 12 बजे हुए अमेठी के जगदीशपुर मे हुए गैगवार वा हत्या कान्ङ मे आखिरकार घटना मे सम्मिलित मुख्य अभियुक्त वा नामजद आरोपियो राजेश विक्रम सिह कि गिरफ्तारी हो ही गई घटना के बाद अमेठी पुलिस ने एकतरफ उन्हे गिरफ्तार कर वाहवाही लूटी वही पुलिस के इस कार्य के बाद अमेठी के सियासी गलियारो मे हलचल मच गई है आपको बता दें कि मंगलवार को विजया बैंक के पास आधा दर्जन शूटरों ने बम से हमलाकर अशफाक नामक युवक को मौत के घाट उतार दिया था वही घटना के बाद परिजनो कि तहरीर पर दूसरे पक्ष के वा घटना के मुख्य अभियुक्त राजेश विक्रम सिह राकेश विक्रम सिह के साथ इसी कोवाली क्षेत्र के वंशराज यादव पर आईपीसी धारा 307 302 120 बी के साथ अन्य गंभीर धाराओ मे मुकदमा दर्ज किया था साथ ही आरोपियो के गिरफ्तारी के लिए पुलिस की ओर से एक पम्पलेट भी जारी किया था जारी पम्पलेट मे इस टायटेल से लिखा गया था ‘गस्ती तलाश अभियुक्त’। जिसमें जगदीशपुर थाने में दर्ज हुए मुकदमें का क्राइम नम्बर और आईपीसी की धाराओं का उल्लेख किया गया था इसके अलावा बाहुबलियों बंधुओं की तस्वीरों के साथ इनका नाम पता और हुलिया भी लिखा गया है। साथ ही अभियुक्तों द्वारा प्रयोग की जानें वाली लग्ज़री गाड़ी का रंग और हमेशा प्रयोग में आने वाले गाड़ी के नम्बर का भी जिक्र हुआ है उक्त पम्प्लेट को सीओ मुसाफिरखाना और एसएचओ जगदीशपुर द्वारा जारी किया गया है। वहीं एसपी के.के. गहलौत ने दोनों बाहुबलियों के साथ घटना मे सन्लिप्त एक और आरोपी वंशराज यादव पर 25-25 हज़ार के इनाम की भी घोषणा कि थी वही इस पूरे मामले मे सक्रियता निभा रहे अमेठी एएसपी बलरामाचारी दुबे के साथ अमेठी पुलिस टीम वा क्राईम ब्राच को बङी सफलता मिली इनाम राशि का पम्पलेट के बाद मुखबिर कि मिली सूचना के बाद आज अमेठी जनपद के पीपरपुर कोतवाली के अन्तर्गत आने वाले दुर्गापुर चौराहे से पुलिस टीम वा क्राईम ब्राच ने घेराबंदी कर राजेश विक्रम सिह को गिरफ्तार कर लिया


दो बार ब्लाक प्रमुख रह चुके है राजेश विक्रम—

वही घटना मे सम्मलित मुख्य आरोपी राजेश विक्रम सिह वर्ष 200-5 मे पहली बार जगदीशपुर ब्लाक से ब्लाक प्रमुख चुने गये थे वही अपने कार्यकाल के चार वर्ष बीत जाने के बाद इशरत रसूल के हत्या के मामले मे इन्हे इनके भाई राकेश विक्रम सिह और रामदेव पासी को आजीवन कारावास कि सजा भी हुई थी वही इस पूरे मामले के बाद राजेश विक्रम सिह कि पत्नी अजंली सिह वर्ष 20-10 के चुनाव मे जगदीशपुर ब्लाक से ब्लाक प्रमुख चुने गयी थी जिसके बाद वे 20-10 से वर्ष 20-15 तक ब्लाक प्रमुख रही वही 20-15 के बाद सीट अनारक्षित होने के बाद इनके वाहन चालक वर्तमान समय मे जगदीशपुर ब्लाक से ब्लाक प्रमुख है

दो शूटरों की पहले हुई थी गिरफ्तारी

घटना के बाद दो शूटर गिरफ्तार कर लिए गए थे। उनके पास से दो पिस्टल, पांच कारतूस व दो लाख 47 हजार 700 रुपए बरामद हुआ था। एक की पहचान अमित चौबे निवासी दुसेपुर थाना इक्का छपरा बिहार के रूप में हुई। मृतक के पिता की तहरीर पर दोनों शूटरों के साथ ही मोहनगंज थाना क्षेत्र के रामशाला निवासी सतीश कुमार उर्फ सतई व जगदीशपुर थाना क्षेत्र के लालीपुर हुसैनगंज कला निवासी वंशराज यादव के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था। जगदीशपुर के गूंगेमऊ निवासी राजेश विक्रम सिंह व उनके भाई राकेश विक्रम सिंह पर हत्या की साजिश मुकदमा दर्ज किया गय था

भाजपा नेता होने के अफवाहो पर लगा विराम

पुलिस की एफआईआर में आरोपी बने बाहुबली बंधु राजेश विक्रम सिह की चर्चा बीजेपी में होने कि थी लेकिन भाजपा के कई नेताओ से जब इसकी पुष्टी कि गई तो यह महज अफवाह निकली खासबातचीत मे भाजपा के पूर्व जिलाअध्यक्ष वा जगदीशपुर निवासी दयाशंकर यादव ने बताता कि भाजपा मे ऐसे लोग महज सत्ता के सहारे रहते है उन्होने कहा कि भाजपा के संगठन सिस्टम और नेतृत्व से इनका कोई तालूकात नही वही पूर्व जिलाअध्यक्ष के बाद हमने बात कि भाजपा के वर्तमान जिलाअध्यक्ष उमाशंकर पाण्ङेय से उन्होने भी इसे महज अफवाह बताया उन्होने कहा कि राजेश विक्रम सिह बीजेपी मे ना थे और ना है इन दोनो नेताओ के बाद भाजपा प्रवक्ता वा मीङिया प्रभारी अरूण मिश्र ने भी इसे महज अफवाह बताया

बाहुबली नेता राजेश का रहा अपराधिक इतिहास

आपको बताते चले कि वर्ष 200-2 से अपनी राजनीति शुरू करने वाले बाहुबली माने जाने वाले राजेश विक्रम सिह को एक बार आजीवन कारावास हुआ था लेकिन वे अपनी चलती पैठ के कारण कुछ ही सालो मे जेल से रिहा हो गये थे वही इसके साथ ही पुलिस कि आकङो कि माने तो राजेश विक्रम सिह का काफी पुराना अपराधिक इतिहास रहा है गृह जनपद के थाने मे 5 गंभीर धाराओ मे मुकदमा दर्ज होने के साथ इन पर अलग अलग जिलो के थानो पर कुल 21 मुकदमे पंजीकृत है

पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल
वही इस पूरे मामले मे हाल मे हुए जगदीशपुर हत्या कान्ङ मे राजेश विक्रम मुख्य अभियुक्त थे वही घटना सम्प्रदायिक होने के बाद पुलिस पर काफी दवाब भी थी ऐसे मे पुलिस ने बाहुबली राजेश विक्रम सिह कि गिरफ्तारी के लिए 25 हजार का इनामी पोस्टर भी जारी किया था जिसके बाद जगदीशपुर पुलिस ने अमेठी जनपद के पीपरपुर कोतवाली के अन्तरगर्त दुर्गापुर से उन्हे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया

input by:Aditya shukla

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*